top of page

क्योंकि नाम ही पहचान है !

Updated: Feb 13, 2023

कुछ दिनों पहले मैं सपरिवार घूमने के लिए उदयपुर गई हुई थी। रात को जब खाना खाने के लिए हम लोग बाहर निकले तो वहां के बहुत ही फेमस फूड कोर्ट में गए Iबहुत देर इंतजार करने के बाद भी भीड़ होने की वजह से हमें वहां पर खाने के लिए जगह नहीं मिली।पर दूसरा होटल वहां से कुछ किलोमीटर दूर दिखा रहा था।हमारे पास इतना समय नहीं था कि हम इतनी दूरी तय करके उस होटल में खाना खाने जाते।वहां के लोकल लोगों से पता करने पर पता चला कि आसपास ही एक अच्छा ढाबा है।रात काफी हो चुकी थी इसलिए हमने उस ढाबा में जाकर खाना खाने का निर्णय लिया।उस ढाबे का खाना किसी अच्छे होटल के खाने से बिल्कुल भी कम नहीं था। स्थानीय निवासियों के बीच में वह ढाबा लोकप्रिय था।


फिर भी वह ढाबा गूगल पर नहीं था। इसका कारण क्या है ?




जब आप बाज़ार में अपने किसी भी प्रकार की वस्तु या उत्पाद को लेकर उतरते हैं, फिर चाहे वह खाने का हो पहनने का हो या किसी अन्य प्रकार का।हमें लोगों को अपनी वस्तु के बारे में बताने के लिए विज्ञापन करने की जरूरत होती है।और विज्ञापन करने के लिए आपके उत्पाद या वस्तु का कोई ब्रांड होना चाहिए।


ब्रांडिंग आखिर है क्या?


अपने उत्पाद को ऐसा नाम या चिन्ह देना जो उसे दूसरो के उत्पादों से अलग या विशिष्ट दिखाए, ही ब्रांडिंग कहलाता है।

"क्योंकि नाम ही पहचान है।"


हमें ब्रांडिंग की आवश्यकता क्यों पड़ती है और क्या इसे अपनाने से व्यवसाय में विकास की संभावना बढ़ जाती है?


अपने उत्पाद के नाम की छवि को लोगों के दिल में अच्छा बनाने के लिए और विश्वसनीयता बढ़ाने के लिए जो काम किया जाता है उसे ब्रांडिंग कहते हैं। यह बहुत सारे कामों का समन्वय होता है।

जैसे मान लीजिए आप लोकल बाजार जाते हैं और आप वहां पर किसी दुकान से कोई शर्ट और पैंट खरीदते हैं तो आप किसी ब्रांड का नाम नहीं लेते । यह जाहिर सी बात है कि कोई भी छोटी दुकान किसी भी बड़े ब्रांड के कपड़े नहीं रखेगी। ऐसी छोटी दुकान से खरीदे हुए कपड़ों के बारे में आप लोगों को ब्रांड के साथ नहीं बताते।लेकिन जब हम मॉल जाते हैं तो हम कहते हैं कि हमें फला फला ब्रांड के कपड़े लेने हैं।



या मान लीजिए जब आप स्थानीय बाजार जाते हैं और ट्रेड में चलने वाली आर्टिफिशियल ज्वेलरी खरीदते हैं तो क्या आप किसी ब्रांड का खरीदते हैं, नहीं। लेकिन जब हम इन्हीं आर्टिफिशियल ज्वेलरी की खरीदारी मॉल से करते हैं तो हम वहां पर एक ब्रांड का नाम ढूंढते हैं। इन्हीं छोटे दुकानों से बड़े मॉल तक के सफर को हम ब्रांडिंग बोलते हैं।




ब्रांडिंग के लाभ


  • अगर कोई अपनी ब्रांडिंग अच्छी तरह से करता है उसके लंबे समय तक मार्केट में बने रहने की संभावना बढ़ जाती है।


  • अगर आप अपने उत्पाद की अच्छी गुणवत्ता से लोगों को अच्छा अनुभव प्रदान करेंगे तो ऐसे में आपके ग्राहकों की संख्या बढ़ती है।


  • आज किसी के पास इतना टाइम नहीं है कि वह बहुत ही डिटेल में जाकर किसी के बारे में पता करें ऐसे में यह आपकी जिम्मेदारी बनती है कि आप लोगों को बताएं कि आप अपने उत्पाद के द्वारा उनको क्या दे रहे हैं।


  • ब्रांडिंग के जरिए आप ग्राहकों को अपने उत्पाद की छोटी से छोटी जानकारी भी उपलब्ध करवा सकते हैं।


  • इससे ग्राहकों को आपके उत्पाद की तुलना दूसरों के उत्पाद से करने में आसानी होती है|


  • इसीलिए कहा जाता है कि आप जितनी अच्छी तरह से अपने उत्पाद का विज्ञापन करेंगे आपसे उत्पाद की लोकप्रियता उतनी ही बढ़ती है।

Kommentare

Mit 0 von 5 Sternen bewertet.
Noch keine Ratings

Rating hinzufügen
bottom of page